Blogging क्या है? क्या आप कर सकते हो?

 हेलो दोस्तों मैं आज के इस आर्टिकल में हम आपसे बात करेंगे क्या आप अपने मोबाइल के जरिए आप किससे ब्लॉगिंग कर सकते हो। क्योंकि आज के जमाने में अगर आपको ब्लॉगिंग नहीं आता तो आपको इंटरनेट के बारे में बहुत सारे जानकारी नहीं आते हैं। तो आज के इस आर्टिकल में आप आसानी से जान सकोगे की ब्लॉगिंग किया है और ब्लॉगिंग कैसे काम करते हैं और क्या आप भी ब्लॉगर बन सकते हो या नहीं सब कुछ इस आर्टिकल में हम बात करेंगे।

Blogging क्या है? क्या आप कर सकते हो?


Blogging क्या है?

और आपको बोल दिया किसी भी ब्राउज़र में कोई भी एक चीज को सर्च कर रहे हो तो आपको कुछ रिजल्ट देखने को मिलता है जहां पर आप पढ़ते हो या देखते हो। अब जिस पर पढ़ते हो या देखते हो उसको बोलते हैं एक वेबसाइट या वेब पेज। 

एक एक पेज के जरिए आप बहुत सारे टॉपिक्स या नॉलेज को ब्लॉगिंग या वेबसाइट के जरिए जान पाते हो और उसको आप अपने जिंदगी में इस्तेमाल भी कर सकते हो। लेकिन इसे भी कोई लोग होते हैं जो आपके सवाल का जवाब देते हैं एक वेब पेज के जरिए या वेबसाइट के जरिए। 

इस तरह देखा जाए तो आप एक ही गुजर हो और आपको जो चीज चाहिए वह आपको किसी एक और पेज के जरिए मिलता है या नहीं कि आप एक चीज मांग रहे हो किसी से, या पूछ रहे हो और उसका जवाब आपको एक वेबसाइट के जरिए मिल रहा है। 

वह चीज आपको गूगल सा जस्ट करके दिखाता है कि यह आंसर हो सकता है लेकिन असल में जो उसका उत्तर आपको दिया है वह एक ब्लॉगर होता है। एक ब्लॉगर अपनी वेबसाइट में किसी एक कैटगरी के अंदर आपको उसके बारे में शिक्षा देते हैं। जब भी आपको कोई सवाल हो या आपको किसी भी चीजों के बारे में पूछना है तो आप गूगल में जाकर सर्च करके पूछते हो। 

और उसका जवाब गूगल देता है कुछ ब्लॉगर के जरिए जो ब्लॉगर उसका आंसर ऑलरेडी अपने वेबसाइट में दे चुका है। उसको ही गूगल खुद आपको दिखाते हैं जो आप उनसे मदद पाते हो। 

ब्लॉगर काम कैसे करता है?

इससे पहले हमने बात किया है, की ब्लॉकिंग कैसे कम करते हैं। लेकिन ब्लॉगिंग और ब्लॉगर दोनों में फर्क होते हैं। ब्लॉगिंग आपको ब्लॉगर के जरिए दिया हुआ इंफॉर्मेशन को आपके सामने गूगल के जरिए लाया जाता है। और एक ब्लॉगर का काम यह होता है कि वह किसी एक टॉपिक पर या आपका पूछा हुआ सवाल पर रिचार्ज करके उनसे संबंधित सारे इंफॉर्मेशन को एक करके आपके सामने पेश करते हैं। और उससे आपको अपने सवाल का जवाब मिलते हैं।

तो आपको शायद अंदाजा लग चुका है कि 1 किलो का और 1 लोग इनके अंदर फर्क किया है और एक ब्लॉगिंग कैसे काम करता है। और दूसरी तरफ एक ब्लॉगर कैसे काम करते हैं।

उदाहरण के तौर पर आप गूगल में सर्च कर रहे हो कि एक वेबसाइट या ब्लॉग कैसे बनाया जाता है। उसके बाद आपके सामने बहुत सारा रिजल्ट देखने को मिल सकता है। वहां पर जो रिजल्ट आपको देखने को मिलेगा उनमें से जितने सारे वेबसाइट है वह सारे ब्लॉगर है। और जो पेज आपको देखने को मिल रहा है वह एक एक ब्लॉग है।

क्या आप भी ब्लॉगिंग कर सकते हो

अगर आपको किसी एक चीज पर जानकारी है और आप उन जानकारी को दूसरों के बीच में लाना चाहते हो या सिखाना चाहते हो तो आप एक ब्लॉगर बन सकते हो और एक ब्लॉग के जरिए वह सब सिखा सकते हो। अगर आपको दूसरों को सिखाने का जज्बा है और आप चाहते हो कि लोग आपका बातों को जान पाए और उनका मदद हो तो आप एक ब्लॉगर आसानी से बन सकते हो।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ