Hosting क्या होता है। होस्टिंग का काम किया है। कितना प्रकार का है

 हेलो दोस्तों आज किस आर्टिकल में हम आपसे बात करेंगे कि Hosting क्या होता है। होस्टिंग का काम किया है। हस्टीऺ कितने प्रकार का है।

जब भी आप इंटरनेट में कोई भी एक ब्लॉग बनाने की कोशिश करते हैं या आप चाहते हैं कि 1 ब्लॉग आपका भी हो और उसमें आपको बहुत सारा आर्टिकल लेखने की भी जरूरत होती है। इसलिए आपको एक होस्टिंग का जरूरत होगा चाहे वह फ्री का होस्टिंग हो या खरीद के लिया हुआ होस्टिंग हो। 

Hosting क्या होता है। होस्टिंग का काम किया है। कितना प्रकार का है

उसके इस आर्टिकल में हम आपसे बात करेंगे कि होस्टिंग किया है और होस्टिंग कैसे काम करता है साथ ही साथ और यह भी बात करेंगे कि होस्टिंग कितना प्रकार का हो सकता है। दूसरी तरफ छोटे-मोटे वेबसाइट चलाने के लिए किस तरह का होस्टिंग का जरूरत तो होते हैं और उसका खर्चा कितना होता है। 

तो पहले हम जान लेते हैं कि होस्टिंग कर के बारे में जितना सारे नॉलेज जानना जरूरी है।

 Hosting क्या होता है

अगर आप एक घर बसाना चाहते हो तो पहले आपको उसके लिए जितने सारे मैटेरियल्स की जरूरत होगा उनमें से एक है मिट्टी लाना। यानी कि अगर आपके पास मिट्टी नहीं है, तो फाउंडेशन के लिए जो जगह चाहिए उसका ही कोई इंतजाम ना हो सका तो घर कैसे उठा पाओगे। 

इसी तरह होस्टिंग ऐसा एक चीज है ब्लॉगिंग के लिए, अगर होस्टिंग ना हो तो आपको ब्लॉगिंग या वेबसाइट बनाने का जगह ही नहीं मिलेगा। होस्टिंग आपको कांटेक्ट यानी कि आपका जो भी अपसेट में डालना चाहते हो उसको रखने का एक जगह है। आपको ऐसा कुछ जगा देते हैं कि आप यह सब यहां पर रखो और उसके बाद जो यूजर्स मांगे उसको अब दिखाओ अपना ब्लॉग के जरिए। 

सीधे तौर पर हम यह कह सकते हैं कि स्टिंग के जरिए ही हम अपना वेबसाइट का सारा डाटा जमा करके रखते हैं और उसको जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल करते हैं। 

Hosting काम कैसे करते हैं

इससे पहले हमने आपसे बात की है कि होस्टिंग किया है, और होस्टिंग का जरूरत क्यों पड़ते हैं इन सब के बारे में। एक ब्लॉग या वेबसाइट में जितना सारा डाटा जमा करके रखना पड़ता है वह सब एक लाइब्रेरी की तरह होस्टिंग ही जमा करके रखते हैं। 

हम लोग उस दिन आपके लिए एक स्टोर रूम है और आप एक दुकान चला रहे हो। लेकिन अब अपने सारे सामान को दुकान के अंदर ही नहीं रख सकते इसके लिए आप उस सामान को स्टोर रूम में जमा करके रखते हो। जब भी कोई भी एक खरीददार आए तो वह पहले आपको वह चीज मांगेगा। आप उसको बाद उसको अपना स्टोर रूम में ले जाओगे या वहां से आप जो सामान है वह दिखाओगे।

एक होस्टिंग का काम भी कुछ इसी तरह का होते हैं जैसे आपको एक उदाहरण की तरह आपको बताया है। 

होस्टिंग कितना प्रकार का है

अगर आप एक ब्लॉगर हो तो आपक शायद पता होगा कि आपको कौन सा होस्टिंग का जरूरत पड़ती है। लेकिन अगर आप एक नए यूजर हो या आप चाहते हो कि आपका भी एक वेबसाइट हो या आप खोलना चाहते हो एक वेबसाइट। उसके लिए आपको पता नहीं है कि आपको कौन सा होस्टिंग चाहिए। तो इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ो आपको समझ में आ जाएगा सब कुछ। 
दरअसल होस्टिंग हम ४ तरह का देखो आते हैं। पहले है एक शेयर्ड होस्टिंग, यहां पर किसी एक होस्टिंग का बहुत सारे यूजर्स मिलकर खरीद ले कर चलाना। इस होस्टिंग का यूज़ छोटे-मोटे ब्लॉकर्स यह बिजनेस के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 
क्लाउड होस्टिंग: 
क्लाउड स्ट्रिंग का इस्तेमाल दरासाल मीडियम लेवल का ब्लॉगर सिया बिजनेस के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह पर आपको शेयर्ड होस्टिंग से बहुत ज्यादा स्पीड देखने को मिलेगा और जगह भी बहुत ज्यादा मिलेगा। 
वीपीएस होस्टिंग: 
यह होस्टिंग दरअसल बड़े-बड़े बिजनेसमैन या जिनके पास ट्रैफिक बहुत ज्यादा आते हैं। और बड़े-बड़े चीजों को ऑनलाइन रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। दरअसल आपको शेयर्ड होस्टिंग भी इसी का एक भाग यानी कि हिस्सा मिलते हैं। 
तो अगर आप एक नए ब्लॉगर हो और आपके पास ज्यादा ट्रैफिक नहीं है तो आप जा सकते हो किसी भी होस्टिंग या होस्टिंग के लिए। लेकिन आपके पास ट्राफिक नहीं है तो आप शेयर्ड होस्टिंग में जा सकते हो जहां पर आपको खर्चा ज्यादा करने का जरूरत ना पड़ेगा। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ