Keywords research किया है? keywords क्या है?

हेलो दोस्तो आज किस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि Keywords किया है और एक कीवर्ड्स से रिचार्ज किया जाता है। अगर आप एक ब्लॉगर या वेबसाइट चलाना चाहते हो तो आपको Keywords रिसर्च करना आना ही पड़ेगा। 
क्योंकि बीना Keywords रिचार्ज करें आप किसी भी एक पोस्ट को अगर अपने वेबसाइट में पब्लिश कर देते हो तो भी वह पोस्ट रैंक नहीं होगा। 

Keywords किया है?

कीबोर्ड रिचार्ज के बारे में जानने से पहले हम बात कर लेते हैं कि की Keywords क्या होते हैं और उनको कैसे रिचार्ज और इस्तेमाल किया जाता है। 
दरअसल जब भी आप गूगल या यूट्यूब या किसी भी जगह पर कोई भी सर्च करो तो रिजल्ट निकल कर आ जाता है अपने सामने। वहां पर जो आप सर्च किया चाहे वह एक क्रिया  हो या किसी का नाम हो। उसी को ब्लॉगिंग के फील्ड में Keywords माना जाता है। 
उदाहरण के तौर पर हम बात कर लेते हैं एक अच्छा सेटिंग के बारे में जानकारी लेना है तो पहले आप गूगल पर जाओगे और उस सेटिंग के बारे में सर्च करोगे। इसके बाद गूगल आपको कुछ रिजल्ट शो करेगा और जिसके लिए आप सर्च किया उसको ही हम Keywords कहते हैं। और जो रिजल्ट आपको दिखाया उसने उसको हम वेब पेज कहते हैं।


Keywords research किया है?

जब आप कीवर्ड्स के बारे में जान लिया उसके बाद हम आपसे बात करेंगे कि Keywords को research कैसे किया जाता है। दरअसल जब भी एक ब्लॉग या आर्टिकल लिखने का जरूरत होती है तो किसी एक कैटेगरी या कीवर्ड के अंदर ही लिखना होगा यानी कि कीवर्ड ही असल है। 
लेकिन कीबोर्ड होने से ही आप उन पर एक आर्टिकल नहीं लिख सकते। उन पर आर्टिकल लिखने के लिए आपको उस Keyword को research करने का जरूरत होगा। जिससे आपको पता चलेगा कि ये आर्टिकल देखने के लिए आपको कितना शब्दों का प्रयोग करना होगा। 

उसके अलावा जिस कीवर्ड के ऊपर आर्टिकल लिखने जा रहे हो उसको कितने लोग गूगल में सर्च करते हैं, उस कीवर्ड का डिफिकल्टी कितना है, उसको रैंक करवाने के लिए कितना बैकलिंक्स की जरूरत है। यह सब आपको कीवर्ड रिसर्च करने के समय ही पता चल जाएगा। 

Keywords research कैसे किया जाता है?

दरअसल की ओर से सर्च करने के लिए आपको बहुत सारा टूल्स या वेबसाइट से ही काम चल जाएगा। अगर आप चाहो तो पेट टूल्स यूज कर सकते हो या तो आप फ्री तुम भी यूज कर सकते हो। 
जब भी कोई एक प्रोफेशनल कीबोर्ड रिचार्ज करते हैं तो वह ज्यादातर बा बैतूल के तो सिरोही
 रिचार्ज करते हैं। क्योंकि बेतूल सबको असल और एक्यूरेट डाटा देखने को मिल आते हैं।
लेकिन ऐसा नहीं है कि, फ्री में मिलने वाला हर डाटा सही नहीं। पेट टूल्स के और कुछ वजह है कि वह आपको कुछ ज्यादा फीचर्स देते हैं जिससे आपको किसी भी क्यूट को रिचार्ज करने में आसान और जल्दी होते हैं। 
दूसरा बात यह है कि पेट यानी कि प्रोफेशनल तुलसी आपको अपडेटेड डाटा को दिखाएगा और उसमें किया गया चेंज इसको भी दिखाएगा। 
तो आप क्यूट रिचार्ज करने के लिए किसी भी एक्टिव को यूज कर सकते हो और उसके लिए आप उस रूम में जाकर जिस पिक कोट को यूज करना चाहते हो या रिचार्ज करना चाहते हो उसको डालो और उस पर रिसर्च शुरू करो। 

क्या-क्या जरूरी है रिचार्ज करना?

क्यूट फीचर्स करने के आपको कुछ चीजों का रिचार्ज करना बहुत ही जरूरी होगा उन सब के बारे में थोड़ा डिस्कस कर लेते हैं। पहले भी अपने क्यों रिसर्च किया होगा तो पता होगा कि किसी भी क्यूट का वॉल्यूम बहुत ही जरूरी है। अगर आप एक नए ब्लॉगर हो तो आप उसका वॉल्यूम ज्यादा पर फोकस मत करो बल्कि उस पर कंपटीशन कितना है उस पर ध्यान रखो।
इसलिए हम बात करना चाहते हैं कि आप बोलियम के बर्थ की ओर से कंपटीशन देखो कितना नंबर तक कंपटीशन है। जिसकी उसका वॉल्यूम ज्यादा है उसका कंपटीशन भी ज्यादा होगा इसलिए हम पर फोकस मत करो और कंपटीशन कम वाले पर फोकस करो और उस पर कांटेक्ट बनाओ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ